RIG Breaking: बहुचर्चित गुम हुई 9.2 km लम्बी और लगभग 10 हेक्टेयर नहर की जांच पहुंची रिहायशी कॉलोनीयो पार्क एवेन्यू और कृष्णा कॉलोनी तक..! प्राथमिक जांच में सामने आए नहर की जमीन में जिंदल के कुछ निर्माण, कुछ शो रूम्स और कॉलोनियों के कुछ मकान.. ! एसडीएम भागवत जायसवाल मौके पर मौजूद !!

रायगढ़। शहर की दो रिहायशी कॉलोनियों पर एसडीएम भागवत जयसवाल सिंचाई विभाग और राजस्व विभाग की टीम पहुंची है। टीम द्वारा बहुचर्चित गुम हो चुकी नहर की जांच की जा रही है। आरोप है कि नहर के ऊपर इन कालोनियों की बसाहट के अलावा व्यवसायिक प्रतिष्ठानों और जिंदल का कुछ निर्माण हुआ है है।

पिछले एक सप्ताह से बहुचर्चित नहर जांच की कार्यवाही चल रही है। जो आज शहर के मुख्य कालोनियों पार्क एवेन्यू और कृष्णा कालोनी तक पहुची है। इस जांच में सिंचाई विभाग के लगभग 9.2km लम्बी और लगभग 10 हेक्टेयर की जमीन को प्राथमिक तौर पर जिंदल के विभिन्न निर्माण, कुछ शो रूम्स के निर्माण और कुछ आवासीय निर्माण पाया गया है। अंतिम रिपोर्ट आने पर ही स्पष्ट बताया जा सकता है।

पहले कॉलोनी वाली जमीन पर एक नहर हुआ करती थी। जिससे टीपाखोल जलाशय से किसानों के खेतों तक पानी पहुंचाया जाता था। कॉलोनी की जमीन से नहर के साथ ही 2 एकड़ सरकारी भूमि पर भी कब्जे का आरोप है। इस नहर में 2004 लगभग तक पानी आया करता था। उसके बाद से यह अवरुद्ध पड़ी हुई है।

इस टीम में एसडीएम भागवत जायसवाल की अगुवाई में राजस्व के साथ सिचांई विभाग के भी सदस्य काम कर रहे है।

पहले भी जांच के लिए पहुंची थी टीम

इसी साल फरवरी के अंतिम सप्ताह में भी जांच के लिए टीम पहुंची थी। आरआई व पटवारी पार्क एवेन्यू कॉलोनी में जांच करने पहुंचे थे, लेकिन कॉलोनाइजर और कॉलोनी के अध्यक्ष की दबंगई की वजह से राजस्व विभाग के अफसर बिना नापजोख किए ही लौट आये थे। बिल्डरों पर कॉलोनी बनाने के लिए नहर को पाटने का आरोप लगाते हुए एसडीएम से शिकायत की गई थी।