RIG TADKA: राष्ट्रीय पर्व और तिरंगे झंडे को लेकर थम ही नहीं रहा विधायक प्रकाश नायक से विवाद…! क्या था पत्र क्रमांक 65 में…!!

RIG24 रायगढ़। विगत दिनों रायगढ़ विधायक द्वारा उल्टे झंडे को पकड़े जाने के मामले को लेकर के शोसल मीडिया में इनकी फोटो आई और उसके पश्चात भाजपा का राष्ट्रवाद उमड़ पड़ा।

रायगढ़ के कांग्रेसी विधायक प्रकाश नायक उल्टा झंडा पकड़ने के मामले में समाचार पत्रों के साथ साथ शोशल मीडिया में भी समर्थकों के स्पस्टीकरण और विरोधियों के द्वारा झंडे का अपमान जैसे वाक्यो से निरंतर दो चार हो रहे हैं।

इस मामले में भाजपा के महिला मोर्चा की नेत्री और एक पार्षद ने बाकायदा इसकी शिकायत पुलिस थाने में कर डाली। निःसन्देह बीजेपी इस मौके नही छोड़ना चाहती पर विधायक प्रकाश नायक कर ऊपर पूर्व में भी 24 जनवरी 2019 को अपने पत्र क्रमांक 65 के अनुसार जिला शिक्षा अधिकारी को पत्र जारी कर राष्ट्रीय पर्व 26 जनवरी 2019 में रायगढ़ विधानसभा के अंतर्गत अपने विधायक होने के तहत शासकीय स्कूलों में झंडा फहराने के लिए प्रतिनिधियों की सूची प्रेषित की। जैसे नियम और संविधान के विरुद्ध ही मन जाएगा। चूंकि संविधान में यह कही उल्लिखित नही है कि कोई विधायक राष्ट्रीय पर्व में झंडा फहराने के लिए अपने समर्थकों की सूची दे। इसे तत्कालीन शिक्षा अधिकारी आर.पी.आदित्य ने अमल में भी ला दिया। चूंकि पत्रित आदेश कांग्रेस विधायक प्रकाश नायक का था तो समझदार कांग्रेसियों में कुछ ने झंडा फहराने के इस दायित्व को निभाया भी जिसमे केवड़ा बाडी स्कूल,नटवर स्कूल,पुत्री शाला, चक्रधर नगर स्कूल, छाता मुड़ा स्कूल आदि है अभी इसकी जांच होना बाकी है जो संविधान विरूध्द हुआ है।

वैसे इनके पिता डॉ शक्रजित नायक तत्कालीन विधायक रायगढ़ भी ऐसे मिलते जुलते एक परिवाद को झेलत-झेलते बचे थे। जिसे अधिवक्ता सत्येंद्र सिंह ने माननीय cjm साहब के न्यायालय में बतौर आवेदक प्रस्तुत किया था।