अब गरीबी नहीं आयेगी ऑनलाइन शिक्षा के आड़े, कम आय वर्ग के बच्चे भी कर सकेंगे ऑनलाइन पढ़ाई, जल्द ही एक योजना पेश करेगा शिक्षा मंत्रालय….!!

केंद्र सरकार देश में सरकारी स्कूल के बच्चों को ऑनलाइन क्लास देने के लिए तैयारी करने में जुटी है। कोरोना वायरस की वजह से भारत में बहुत दिनों से स्कूल बंद है और कोरोनावायरस के बढ़ते संक्रमण की वजह से स्कूल जल्द खुलने के आसार भी नजर नहीं आ रहे हैं।

इस बीच केंद्र सरकार ने टीवी और रेडियो के माध्यम से उन बच्चों तक ऑनलाइन पढ़ाई पहुंचाने की योजना बनाई है जिनके पास इंटरनेट या इंटरनेट से चलने वाले इस तरह के डिवाइस मौजूद नहीं हैं।कोरोनावायरस के संक्रमण के बाद उन बच्चों की पढ़ाई पर काफी असर पड़ा है जो आम तौर पर कमजोर आय वर्ग से आते हैं।

हाल में भारत सरकार के शिक्षा मंत्रालय ने डिजिटल एजुकेशन से संबंधित दिशा-निर्देश जारी किए हैं। प्रज्ञाता नाम के इस अभियान में ऑल इंडिया रेडियो और दूरदर्शन के साथ कम्युनिटी लर्निंग के माध्यम से छात्रों को पढ़ाई कराई जाएगी।

शिक्षा मंत्रालय ने राज्यों से कहा है कि वे उन बच्चों की मदद करने की कोशिश करें जिनके पास डिजिटल लर्निंग के लिए डिवाइस नहीं है. इसके साथ ही एनसीईआरटी द्वारा पेश किए गए वैकल्पिक एकेडमिक कैलेंडर की मदद से उन बच्चों को स्वाध्याय के लिए प्रेरित करें।

इस बारे में शिक्षा मंत्रालय के एक अधिकारी ने कहा, “हमने राज्यों से कहा है कि इस तरह के सभी छात्र की पहचान करें और उनके लिए कोरोनावायरस संकट के इस दौर में पढ़ाई में जरूरी मदद सुनिश्चित करें। हम उन छात्रों के लिए भी बहुत चिंतित हैं जिनके पास डिजिटल लर्निंग के लिए साधन नहीं हैं। जो बच्चे कमजोर वर्ग से आते हैं और जिनके पास पढ़ाई के लिए डिजिटल लर्निंग के साधन नहीं है उसको दूर करने के लिए हम कई तरह के प्रयास कर रहे हैं।”
शिक्षा मंत्रालय का यह कदम संसद की स्थाई समिति की एक बैठक के बाद उठाया गया है. संसद की स्थाई समिति की इस बैठक में उन बच्चों के लिए चिंता जाहिर की गई थी जो ऑनलाइन क्लास के लिए जरूरी डिवाइस या इंटरनेट की मदद नहीं मिल पाने की वजह से कोरोना संकट के इस दौर में शिक्षा पाने से वंचित रह रहे हैं।

Read More

Big story

RIG Breaking: प्रदूषण की भयानक मार झेल रहे रायगढ़ का अब फूटा गुस्सा ! त्रस्त जनता ने पर्यावरण कार्यालय के सामने ही पर्यावरण अधिकारी गेदाम के पुतले को काले पानी और काली धूल से नहलाया, खिलाया..! क्या टूट रहा है अब सब्र का बांध..? जानने के पढ़े पूरी ख़बर, एविडेंसियल वीडियो के साथ..