होम आइसोलेशन के लिए पैसों की मांग करने वाले चिकित्सकों के खिलाफ होगी एफ आई आर-कलेक्टर

  • होम आइसोलेशन के लिए पैसों की मांग करने वाले चिकित्सकों के खिलाफ होगी एफ आई आर-कलेक्टर
  • पैसों की मांग करने पर तत्काल डिप्टी कलेक्टर द्वय को करे सूचित

जांजगीर चांपा 25 सितंबर 2020। कलेक्टर यशवंत कुमार ने होम आइसोलेशन में भेजने के लिए चिकित्सकों द्वारा पैसे की मांग किए जाने की शिकायत को गंभीरता से लिया है। कलेक्टर ने ऐसे चिकित्सकों को स्पष्ट हिदायत दी है कि जांच में शिकायत सही मिलने पर न केवल उनके विरुद्ध एफ आई आर दर्ज कराई जाएगी अपितु अन्य धाराओं के तहत भी अपराध दर्ज कर कड़ी दंडात्मक कार्यवाही की जाएगी।

कलेक्टोरेट सभाकक्ष में गुरुवार को कलेक्टर ने कोविड-19 केयर सेंटर, आइसोलेशन सेंटर के प्रभारी चिकित्सकों की बैठक में उक्त हिदायत दी।

पैसे की मांग पर प्रभारी अधिकारी को करें शिकायत

कलेक्टर ने सभी चिकित्सकों को स्पष्ट निर्देश दिया है कि वे कोविड-19 एसिम्टोमेटिक 100 प्रतिशत मरीजों को तत्काल काउंसलिंग करते हुए उन्हें दवाइयों की किट दें और होम आइसोलेशन में भेजें । कलेक्टर ने कहा है कि चाहे कोई स्वास्थ्य केंद्र का डॉक्टर होम आइसोलेशन में भेजने के लिए पैसे की मांग करें तो वे आइसोलेशन सेंटर प्रभारी एवं डिप्टी कलेक्टर श्री करुण डहरिया मोबाइल नंबर 7828674523 और श्री सुमित गर्ग मोबाइल नंबर- 8839148585 पर तत्काल सूचित करें।

कलेक्टर ने कहा है कि ऐसे चिकित्सकों के खिलाफ तत्काल जांच कराई जाएगी। शिकायत सही पाई जाने पर एफ आई आर दर्ज कराई जाएगी। कलेक्टर ने कहा है कि होम आइसोलेशन में भेजे वाले मरीज से दवा, किट आदि के लिए किसी भी प्रकार का कोई शुल्क नहीं लिया जाएगा। यदि कोई डाक्टर, स्वास्थ्य कर्मी पैसों की मांग करें तो तत्काल उक्त नंबर पर सूचित करें।

कलेक्टर ने कोविड डेडिकेटेड अस्पताल या आइसोलेशन सैंटर के ऐसे मरीज जो एसिम्टोमेटिक है,को भी तत्काल होम आइसोलेशन में भेजने के निर्देश चिकित्सकों को दिए।

होम आइसोलेशन के लिए कोई आवेदन नहीं लें

कलेक्टर ने चिकित्सकों को स्पष्ट हिदायत देते हुए कहा है कि होम आइसोलेशन में भेजने मरीजों से किसी भी प्रकार का आवेदन न लें। मरीज़ की निःशुल्क काउंसिलिंग करें। उन्हें दवा आदि देकर उनका होम आइसोलेशन करें।

Read More