RIG Breaking: CBI करेगी सुशांत सिंह राजपूत मौत मामले की जांच , सुप्रीम कोर्ट ने दिया फैसला, जानिए क्या कहा कोर्ट ने…!!

देश की सबसे बड़ी अदालत सुप्रीम कोर्ट ने सुशांत सिंह राजपूत केस में आज अपना फैसला सुना दिया है, जिसका हर किसी को बेसब्री से इंतजार था। सुप्रीम कोर्ट ने अपना फैसला सुशांत सिंह राजपूत के चाहनेवालों के पक्ष में दिया है और सीबीआई जांच की मंजूरी दे दी है। कोर्ट ने अपना फैसला सुनाते हुए यह माना कि मुंबई पुलिस ने इस केस में जांच नहीं की है बल्कि केवल इन्‍क्‍वायरी की है। कोर्ट ने साफ कर दिया है कि इस केस जुड़े हर मामले को अब सीबीआई ही देखेगी।

सुशांत सिंह राजपूत मौत मामले की जांच सीबीआई करेगी। सुप्रीम कोर्ट ने सीबीआई जांच को सही ठहराया है। फैसला सुनाते वक्त कोर्ट ने यह भी कहा कि बिहार पुलिस की एफआईआर सही है। महाराष्ट्र सरकार को आदेश का पालन करना होगा।

सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद इस मामले में महाराष्ट्र की उद्धव ठाकरे सरकार और अभिनेत्री रिया चक्रवर्ती को बड़ा झटका लगा है।

बता दें कि इस मामले में 11 अगस्त को सुनवाई पूरी करने के बाद कोर्ट ने आदेश सुरक्षित रख लिया था। सुनवाई कर रहे जस्टिस ऋषिकेश रॉय ने सभी पक्षों को अपनी दलीलों पर संक्षिप्त लिखित नोट 13 अगस्त तक जमा करवाने की अनुमति दी थी। सभी पक्षों ने 13 अगस्त को अपना जवाब दाखिल कर दिया था।

महाराष्ट्र सरकार और रिया चक्रवर्ती ने कोर्ट से सीबीआई की तरफ से दर्ज की गई एफआईआर को मुंबई पुलिस को सौंपने की मांग की थी। इसका बिहार सरकार और सुशांत के पिता के वकील ने पुरजोर विरोध किया। 14 जून को मुंबई के अपने फ्लैट में मृत मिले अभिनेता सुशांत सिंह का मामला सुप्रीम कोर्ट लेकर उनकी गर्लफ्रेंड अभिनेत्री रिया चक्रवर्ती आई थीं। रिया ने अपने खिलाफ पटना में दर्ज हुई एफआईआर को मुंबई ट्रांसफर करने की मांग करते हुए याचिका दाखिल की थी।

रिया पर लगे हैं ये आरोप

सुशांत के पिता की तरफ से दर्ज एफआईआर में रिया के ऊपर सुशांत को परेशान करने, उसके करोड़ों रुपए रुपयों का गबन करने और आत्महत्या के लिए उकसाने का आरोप लगाया गया था। सुप्रीम कोर्ट में मामले की सुनवाई से पहले ही बिहार सरकार ने केस सीबीआई को सौंपने की सिफारिश कर दी। इसे केंद्र सरकार ने मान लिया था।

Read More

Big story

रायगढ़ / ATM उखाड़ ले जाने वाले आंठवा आरोपी भी गया सलाखों के पीछे ! पुलिस फरार आरेापी कीर्तिध्वज को गिरफ्तार कर भेजी रिमांड पर ! तमनार क्षेत्र के है आरोपी ! न्यायालय में कुल 2000 पृष्ठों का चालान किया गया पेश !