RIG Breaking: CM भूपेश ने किया राजीव गांधी किसान न्याय योजना में दूसरी किस्त का भुगतान, सीधे किसानों के खाते में जमा होगी कुल 1500 करोड़ की भुगतान राशि, पढ़े पूरी खबर…!!

1,770 views

रायपुर, 20 अगस्त 2020: पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी की जयंती पर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल द्वारा गुरुवार को प्रदेश के किसानों, तेंदूपत्ता संग्राहकों और गोबर विक्रेताओं के खाते में 1737.50 करोड़ रुपये की राशि सीधे बैंक खातों में भेजा गया।

विशेष तौर पर, पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी की जयंती पर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने गुरुवार को प्रदेश के किसानों के खाते में राजीव गांधी किसान न्याय योजना की दूसरी किस्त ऑनलाइन माध्यम से जमा किया। धान, गन्ना और मक्का उत्पादक 19 लाख किसानों को राजीव गांधी किसान न्याय योजना के तहत 1500 करोड़ रुपये की दूसरी किस्त की सौगात मिली।

इसके पहले राजीव गांधी किसान न्याय योजना के तहत प्रथम किस्त के रूप में 1500 करोड़ की राशि राजीव गांधी के शहादत दिवस 21 मई को प्रदान की गई थी। जिसमें प्रदेश के सभी किसान लाभान्वित हुए थे।

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल “राजीव गांधी किसान न्याय योजना” का लाभ देते हुए छत्तीसगढ़ के हितग्राही किसानों के खातों में गुरुवार को दूसरी किस्त ट्रांसफर किया है, जिसमें रायगढ़ जिले के 90 हजार 385 किसानों को दूसरी किस्त के रूप में 87 करोड़ 13 लाख 71 हजार रुपए की राशि उनके खाते में सीधे जमा किया जायेगा।

करीब 19 लाख किसानों को सीधे लाभान्वित करने वाली इस योजना की प्रथम किश्त के रूप में राज्य सरकार द्वारा 1500 करोड़ रूपए किसानों के खातों में आज डाले गए हैं। योजना के अंतर्गत अभी धान, गन्ना और मक्का के किसानों को लिया गया है। लेकिन, आगामी दिनों में दूसरी फसलों के साथ-साथ भूमिहीन ग्रामीणों को भी योजना के अंदर लेने का प्लान तैयार किया जा रहा है

इन योजनाओं में भी दिया गया लाभ

गोधन न्याय योजना के तहत गोबर विक्रेताओं को चार करोड़ 50 लाख और तेंदूपत्ता संग्राहकों को वर्ष 2018 के प्रोत्साहन पारिश्रमिक के रूप में 232.81 करोड़ रुपये की राशि मुख्यमंत्री द्वारा हितग्राही किसानों के खातों में भेजा गया।

राजीव गांधी की जयंती पर पूर्ण किया गया कार्यक्रम

मुख्यमंत्री निवास कार्यालय में आयोजित कार्यक्रम में कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से शामिल हुए तथा मुख्यमंत्री भूपेश बघेल, प्रदेश प्रभारी पी.एल. पुनिया के साथ छत्तीसगढ़ मंत्रिमंडल के सभी सदस्य भी उपस्थित रहे।